कान दर्द ठीक करें चुटकियों में घरेलू उपायों द्वारा !

कान हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है। कान में दर्द होना ,बहना या उसके अंदर फोड़ा होना, ये बहुत दुखदायी होता है और दर्द होता है असहनीय। कई बार ये दर्द इतना ज्यादा होता है की इसकी वजह से सर में भी दर्द होता है। अगर इनका सही समय पर इलाज ना किया जाए तो, ये हमारे सुनने की क्षमता पर असर डालते हैं। कान में होने वाली ज्यादातर दर्द का कारण हमारी अपनी गलती की वजह से होता है।

कान में दर्द होने का कारण

  • नहाते समय कान में पानी घुस जाना  या फिर धूल मिटटी कान में चले जाने की वजह से कान में दर्द हो सकता है।
  • खेलते समय या अन्य किसी वजह से कान में लगने वाली चोट, जिससे कान के अंदर कोई इन्फेक्शन हो जाए। जिससे कान के परदे फट जाए।
  • जब हम कान को साफ़ करने के लिए कोई पेंसिल,पेन, रुई या अन्य कोई चीज कान के अंदर डालते हैं। जिसके वजह से कान में जख्म बन जाए और अस्थायी रूप से थोड़ा कम सुनाई देने लगे।
  • आजकल लोग ईयरफोन का बहुत ज्यादा इस्तमाल करने लगे हैं। इसे बहुत ज्यादा आवाज में सुनना कान की सुनने की क्षमता को कम करता है। अगर इसका ज्यादा यूज़ किया जाए तो ये स्थायी बहरेपन का कारण बन सकता है।

 

कान दर्द या कान के बहने से बचने के उपाय या घरेलु उपचार

 

कान में दर्द होने पर वैसे तो तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए लेकिन, अगर आप छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखेंगे तो डॉक्टर के पास जाने की नौबत नहीं आएगी। कुछ घरेलू विधि द्वारा आप कान के दर्द को चुटकियों में अपने आप दूर कर सकते हैं। जो की आप के किचन में आसानी से पाया जाता है।

कान में खुजली होने पर कोई भी नुकीली वस्तु कान में ना घुसाएं। अगर साफ़ करना है, तो ईयर बग का इस्तमाल कर सकते हैं। सड़क पर चलने वाले,बस स्टैंड के किनारे बैठे हुए लोगों के पास तो बिल्कुल भी जाने की गलती ना करें। इससे कान को भारी नुकसान हो सकता है।

  • प्याज को कूट-पीसकर कपड़े से निचोड़कर उसका रस निकालें।  इस रस को थोड़ा सा गर्म करके 2-3 बून्द कान में डालें। कैसा भी दर्द हो तुरंत आराम मिलेगा।
  • गेंदे के फूलों का रस निचोड़कर कान में डालने से बहरेपन में भी लाभ होता है। इससे श्रवण शक्ति भी बढ़ती है।
  • अपने खाने में ज्यादा से ज्यादा विटामिन ‘सी’ युक्त पदार्थों जैसे :-अमरुद,निम्बू,संतरे आदि फलों का प्रयोग करें। कान दर्द को कम करने में ये लाभकारी होते हैं।
  • बबूल के फल को सरसो के तेल में डालकर आग में पकाएं। इसे छानकर ठंडा होने पर कान में 2-3 बून्द डालने पर कान का बहना रुक जाता है।
  • अदरक के रस को कान में डालने से भी कान के  दर्द और सूजन में आराम मिलता है।
  • तुलसी का रस गर्म कर ठंडा होने पर 2-3 बून्द कान में डालने पर कान दर्द और सूजन में आराम मिलता है। तुलसी पत्तों में ऐसे औषधियों के गुण होते हैं जो कान दर्द दूर करने में सहायक होते हैं।
News Reporter

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.