कोल्ड वाइफ(फ्रीज्ड वाइफ )

बेडरूम एक ऐसी जगह है, जहाँ पति-पत्नी का आपसी रिश्ता पनपता है और मजबूत होता है। अगर दोनों को ही एक दुसरे पर प्यार और भरोसा है तो दोनों ही शारीरिक सुख का आनंद बेझिझक लेते हैं। जिससे उनके बीच का सम्बन्ध और भी मधुर और मजबूत हो जाता है। ऐसे में अगर शारीरिक सम्बन्ध के दौरान पति,पत्नी के भावनाओं का ध्यान ना रखकर स्वयं की इच्छा पूर्ति के बारे में सोचता है,  यही समस्या लगातार चलता रहा तो ऐसे में पत्नी का संबंधों के दौरान कोल्ड हो जाना स्वाभाविक है।

चूँकि महिलाएं शारीरिक और मानसिक रूप से कोमल होती हैं। ऐसी बातों का उनके मन पर बहुत ज्यादा प्रभाव पड़ता है, ऐसे में पत्नी केवल पति की काम वासना की पूर्ति करेगी, जिन्दा लाश की तरह। जिसमे न कोई प्यार है, ना कोई भावना।एकांत के पलों का आनंद लेने की जगह एक खामोश जबरदस्ती ले लेती है, यानि वो कोल्ड हो जाती है। शारीरिक सम्बन्ध के दौरान पत्नी का संतुष्ट ना होना परिवार में कलह का कारण बनते हैं। वो किसी परपुरुष की और आकर्षित हो जाती है। यही आगे चलकर तलाक़ का कारण भी बन सकता है।

आप शारीरिक सुख के लिए अपने पार्टनर के पास आते हैं की एकांत के पलों में वो आपका साथ देगी, आप से प्यार करेगी लेकिन इसके जगह एक ख़ामोशी पसर जाती है। आपको ऐसा लगेगा मानो की आप एक लाश के साथ प्यार कर रहे हैं। तब आपका सारा मुड ऑफ हो जाएगा। इसके लिए दोषी कौन? पुरुष हमेशा महिलाओं को ही दोषी मानेगा लेकिन इसके लिए मुख्यतः पुरुष ही दोषी है। 

सामाजिक सोच

महिलाओं की इस स्थिति के लिए हमारा समाज भी काफी हद तक जिम्म्मेदार है। लड़कों को बचपन से ही ये सिखया जाता है की पति परमेश्वर है और पत्नी उनकी सेवा करने के लिए ही बनी है। हमारा समाज चाहे कितना ही मॉडर्न क्यों न हो गया हो, लेकिन सेक्स के मामले में हम अभी-भी ज्यादा आगे नहीं बढ़े हैं। लड़कियां हर रात अपने पति द्वारा हुए जबरदस्ती रेप को सहती हैं। लेकिन किसी से कुछ कह नहीं पाती। पत्नी सिर्फ बच्चे पैदा करने वाली मशीन नहीं है, उसकी भी अपनी कुछ खुशियाँ हैं जिसे पाने का उसे पूरा अधिकार है।

भावनाओं को समझें

हर पति के लिए अपनी पत्नी की भावनाओं को समझना बहुत जरुरी है. रोमांटिक सम्बन्ध तभी बनेंगे जब दोनों ही एक दुसरे की भावनाओं को समझकर एक दुसरे की खुशियों का ख्याल रखेंगे। लेकिन पुरुष को थोडा ज्यादा ध्यान रखना पड़ेगा ।

  • पति हमेशा पत्नी के साथ ढंग से बात करे। उससे कभी-भी गाली या बदतमीज से बात ना करे। उसके साथ ऐसे ब्यवहार करें जैसा आप अपने लिए चाहते हैं।
  • दिन का समय पत्नी का नहीं होता लेकिन ऑफिस जाते समय उससे गले मिलना और फ्लाइंग किस देना। रात की भूमिका तैयार कर देता है। पत्नी और ज्यादा समर्पण भाव से आपसे प्यार करेगी।
  • पत्नी को हर उस चीज में अपनी भागीदार बनाएं जो आपके लिए महत्वपूर्ण है, जैसे फैमिली के लिए कौन सा बीमा लेना चाहिए ?इमरजेंसी के लिए कितना फण्ड सेव रखें ?बच्चों की पढाई,शादी में कितना खर्चा आएगा ?की तयारी कैसे करनी है उसकी भी राय लें इससे वो अपने आपको अलग-थलग महसूस नहीं करेंगी ।
  • बिस्तर में जाने के तुरंत बाद सेक्स के लिए न जाएँ। उससे पहले फोरप्ले चुम्बन,आलिंगन,सहलाना प्यार भरी मीठी बातें करें। महिला को सेक्स के लिए पहले तैयार करें, महिलाओं की शारीरिक सरंचना ऐसी होती है की वे पुरुषों की अपेक्षा देर से उत्तेजित होती हैं। इसलिए पहले उनकी खुशियों का ख्याल रखें ।
  • पुरुष यदि महिला की भावना को समझकर अपने से पहले उसकी खुशियों का ख्याल रखेगा तो यकीन मानिये आपकी हर रात सुहागरात से कम नहीं होगी। अगर आप उसे थोड़ा सा प्यार देंगे तो वो आप पर सारे जहाँ की खुशियाँ लुटा देगी ।
  • सेक्स से पहले महिला के शरीर को जगाना पड़ता है, जिसमे फोरप्ले एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

 

News Reporter

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.