चिलचिलाती गर्मी और लू से बचाव बेहद जरुरी है

गर्मियों के मौसम में जब तापमान बहुत ज्यादा बढ़ जाता है तो, वो अपने साथ गर्म हवा और ऊमस लेकर आता है। इस मौसम में शरीर से बहुत ज्यादा पसीना निकलता है, जिससे शरीर में पानी और नमक की कमी हो जाती है। ऊपर से चलने वाली गर्म हवाएं और तेज धूप इंसान को बीमार करने के लिए काफी है। इससे शरीर में डिहाइड्रेशन होकर तबियत खराब होने का खतरा रहता है। इस मौसम में चलने वाली गर्म हवाओं के कारण शरीर में कमजोरी ,उल्टी ,पेट सम्बन्धी बिमारी ,दस्त होना,लू लगना आम बात है। लू लगने पर तुरंत डॉक्टर को दिखाएं लेकिन इससे बचने के लिए कुछ घरेलु उपचार भी कर सकते हैं।

लू लगने के लक्षण,कारण और घरेलु उपचार

लक्षण

  • लू लगने पर शरीर में पानी की कमी हो जाती है, जिस कारण शरीर के साथ-साथ मुहं भी सूखने लगता है।
  • बेहोशी आने के साथ-साथ शरीर के तापमान का बढ़ना और तेज बुखार भी आ सकता है।
  • इसमें शरीर गरम होने लगता है और कान ठन्डे रहते हैं तो समझिये की लू हो सकता है।
  • अत्यधिक प्यास लगना और उल्टी महसूस होना लू के लक्षण हो सकते हैं।
  • लू लगने पर नकसीर आने के साथ-साथ सिर चकराना और दस्त भी हो सकता है।
  • दिल की धड़कन बढ़ने के साथ-साथ ,आँखों के आगे अँधेरा छाना और पेशाब में पीलापन आ जाता है।

लू लगने के कारण

  • गर्मियों के मौसम में वैसे तो कोशिश करें की ज्यादा से ज्यादा घर में ही रहें ,बाहर कम से कम निकलना पड़े। लेकिन अगर जरुरी काम है तो निकलना ही पड़ेगा। अगर बेहद जरुरी है घर से निकलना तो खुला बदन या बिना स्कार्फ के घर से बाहर तेज धुप में ना निकलें। तेज धुप से लू लगने का खतरा रहता है।
  • घर से जब भी बाहर निकलें खाली पेट ना हो ,पेट में कुछ ना कुछ जरूर हो। खाली पेट से शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। ऊपर से तेज धुप से चक्कर आ सकता है।
  • बाहर से तेज धुप से आने के बाद तुरंत बाद एकदम से ऐ.सी.या कूलर से बचें,कुछ देर बाद पंखे के निचे आएं।
  • लू ज्यादातर बच्चे ,बूढ़े या उनको लगता है जिनका इम्युनिटी सिस्टम कमजोर होता है,इसलिए ऐसे लोग गर्मियों के मौसम में ज्यादातर घर के अंदर ही रहें।
  • घर से जब भी तेज धुप में निकलें पर्याप्त पानी पिए और साथ में पानी की बोतल लेना ना भूलें।

लू से बचने के घरेलू उपाय

 

  • गर्मी के मौसम में गला सुखना आम बात है। इस मौसम में शरीर में पानी की कमी पाया जाता है। खाने में ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियां खाएं और पानी वाले फलों को जैसे खीरा,तरबूज,खरबूजा शामिल करें।
  • इस मौसम में आम का शरबत या जूस बहुत ज्यादा फायदेमंद है ,हालांकि इसके ज्यादा सेवन से फोड़े,फुंसियां होता है, लेकिन गर्मी में ये फायदे का सौदा है।
  • इस मौसम में गन्ने के रस का जरूर सेवन करें। इसमें शरीर को जरुरी पोषकतत्व और विटामिन्स पाए जाते हैं, जो की गर्मी में बहुत जरुरी है।
  • एक सब्ज़ी है जो गर्मी में बहुत ही लाभकारी है वो है प्याज। इसे खाने से तो फायदा है ही लेकिन अगर आप धुप में निलकने से पहले प्याज को अपने साथ रखेंगे तो आपको लू नहीं लगेगा।
  • इस मौसम में गर्म तासीर वाली चीजें जैसे :मीट,मच्छी,अंडा,शराब आदि के सेवन से परहेज करें। ये शरीर को गर्म कर नुकसान पहुंचाती हैं।इनके ज्यादा सेवन से कब्ज़ की समस्या भी हो सकती है।
  • दही और उससे बनी चीजें जैसे :लस्सी,मट्ठा और रायता का ज्यादा से ज्यादा सेवन करें। इसमें पाए जाने वाले तत्व शरीर को गर्मी से बचाने के साथ-साथ गर्मी से राहत दिलाते हैं और शरीर को ठंडक प्रदान करता है।
  • गर्मियों में शरीर में पानी की कमी होने लगती है, इससे बचने के के लिए एनर्जी ड्रिंक या ग्लूकोज़ का यूज़ करें,ताकि शरीर में खोयी हुई शक्ति वापस आये और आप तरोताजा महसूस करें।
News Reporter

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.