नसबंदी और सेक्स

सेक्स एक प्राकृतिक व सुखदायी क्रिया है मगर अधिकतर महिलाएं शादीशुदा होने के बावजूद अपने को इस सुख से वंचित रखती हैं क्योंकि अनचाहे गर्भ का भय उन्हें पूरी तरह तनावमुक्त नहीं रहने देता। तो आईये परिवार नियोजन के कुछ उपाय के बारे में जानते हैं                                                                परिवार नियोजन के कुछ उपाय स्थायी और कुछ अस्थायी हैं :-  

                                                                  अस्थायी उपाय

1.कॉपर-टी:– इसे योनी के अन्दर रखना होता है जो डॉक्टरो द्वारा रखा जाता है, ये शुक्राणुओं को अंडे तक पहुँचने से रोकता है इसे रखने से शुरू-शरू में पेडू में दर्द और हल्का खून आ सकता है, लेकिन बाद मे सब ठीक हो जाता है इसे आप जितने भी दिन 2 साल,5 साल,या फिर 10 साल के लिए भी यूज कर सकते हैं इसे लगाने से महिलाओं को गोलियों के झंझट से मुक्ति मिलती है इसमें गर्भ ठहरने का चांस 1% है।

2.कंडोम :-ये मुख्यत पुरुषों द्वारा यूज किया जाता है, ये सबसे आसान उपाय है और ये यौन संक्रमित रोगों से भी बचाव करता है। लोग कहते हैं की इससे सेक्स एन्जॉय नहीं कर सकते लेकिन ऐसा नहीं है।

3.वीर्य स्खलन :-कई दम्पति सेक्स के समय वीर्य स्खलन अन्दर ना कर बाहर कर देते हैं ये भी एक कारगर उपाय है लेकिन ये एक मुश्किल काम है इसमें गर्भ का चांस 97% है।

4.गर्भनिरोधक गोलियां :-ये महिलाओं द्वारा यूज किया जाता है लेकिन इसमें डेट और गोलियों का ध्यान रखना पड़ता है, अगर असावधानी से सेक्स किया जाए और गर्भ ठहरने का डर हो तो इमरजेंसी गोली भी होती है जो unwanted72 जैसी गोलियां होती हैं जो इससे बचाव करती हैं  ।                                                                                                                                                                                                                                                                       स्थायी उपाय                                                                          1.पुरुषों में नसबंदी :-ये ऑपरेशन काफी आसान होता है इसमें पुरुषों के अंग को सुन्न कर टांका लगाया जाता है। इससे पुरुषों में किसी प्रकार की कोई कमी नहीं आती है ऑपरेशन के थोड़ी देर बाद आप घर जा सकते हैं और सामान्य काम काज भी कर सकते हैं ।

2.महिलाओं में नलबंदी:-ये दूरबीन या पेट के ऑपरेशन या योनी मार्ग से भी की जा सकती है, ये सरकारी अस्पतालों में मुफ्त होता है नलबंदी 1% मामलों में ही असफल होती है कई महिलाएं इससे कमजोरी भी महसूस करती हैं।

                         नलबंदी और नसबंदी खुलवाई भी जा सकती है

News Reporter

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.