पैर हिलाना भी बीमारी है ?

पैर हिलाना भी कोई बीमारी है या यूँ ही खेल-खेल में पैर हिलाते हैं ?जब हम घर में या कहीं भी फ्री होते हैं तो पैर हिलाने लगते हैं, धीरे-धीरे ये हमारी आदत में शुमार हो जाता है। यदि आपको भी बैठने के साथ-साथ लेटकर भी पैर हिलाने की आदत है तो सावधान हो जाइये, क्यों की ये आदत आपके लिए खतरनाक साबित हो सकती है। बोस्टन के हार्वर्ड मेडिकल स्कूल में किये गए एक रिसर्च के अनुसार इससे पीड़ित लोगों में हार्ट अटैक का खतरा दोगुना बढ़ जाता है। दरअसल इस बीमारी से पीड़ित लोग सोने से पहले 200-300 बार पैर हिला चुके होते हैं। इससे ब्लडप्रेशर और दिल की धड़कन बढ़ जाती है, जो आगे चल कर दिल की बिमारियों की सबसे बड़ी वजह बन जाती है। इस बीमारी का नाम है रेस्टलेस सिंड्रोम। इसकी मुख्य वजह है आयरन की कमी ,ये समस्या 10% लोगों में ही पाई जाती है। ये बीमारी अधिकतर प्रेग्नेंट औरतों में ही पाई जा सकती है या फिर 35 साल के ऊपर के लोगों में ही पाई जाती है। ये बीमारी अनुवांशिक कारणों से भी हो सकता है। किडनी मरीजों को भी ये बीमारी हो सकती है ।

क्या होता है रेस्टलेस सिंड्रोम :-पैर हिलाने से हमारे शरीर से डोपामाईन नामक हार्मोन निकलने लगता है जिससे हमें अच्छा लगता है, और बार-बार पैर हिलाने का मन करता है ।

इसके लक्षण :-वैसे तो सामान्यतया इस बीमारी का पता नहीं चलता है, इस बिमारी को स्लीप डिसऑर्डर भी कहा जाता है। नींद पूरी ना होने पर मनुष्य बहुत थका हुआ महसूस करता है, जिससे ये हो सकता है, मगर इस बिमारी का ब्लड टेस्ट से पता लगाया जा सकता है ।

बचाव :-शुगर,बिपि,और हार्ट पेशेंट रोगियों के लिए ये खतरनाक साबित हो सकता है, भरपूर नींद लें सिगरेट,शराब और तम्बाकू के सेवन से बचें। इस बिमारी के लिए आयरन की दवा दी जाती है और रोज हॉट और कोल्ड बाथ लें, पैरों को रोजाना मालिश करें, कोशिश करें की पैरों को ज्यादा से ज्यादा आराम मिले ।डाइट में आयरन युक्त चीजें जैसे :-पलक,सरसों का साग,चुकंदर केला आदि खाएं रात  में चाय,कॉफी पिने से बचें और रोजाना योगा जरूर करें ।

News Reporter

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.