ये आसान उपाय डायबिटीज कंट्रोल के !

दोस्तों ,आजकल के भाग-दौड़ भरी जिन्दगी में बहुत सी सुख-सुविधाएं हैं, लेकिन बढ़ते तनाव और बीमारियाँ भी इसकी देन हैं। बढ़ते तनाव के कारण बहुत-सी बीमारियाँ शरीर को घेर लेती हैं, इनमें से एक बीमारी है डायबिटीज। ये आपको पता चले बिना ही बीमार बना देता है, इसे कण्ट्रोल रखने के लिए रोजाना एक्सरसाइज करनी चाहिए ,इससे तनाव ही कम नहीं होता बल्कि ब्लडप्रेशर और कोलेस्ट्रोल भी कण्ट्रोल होता है। रोज कम-से-कम आधा घंटा व्यायाम जरुर करें। अगर डायबिटीज बढ़ गया है तो नियमित रूप से ब्लड शुगर लेवल चेक करें और देखें की नार्मल है या कम ज्यादा है ।ब्लडप्रेशर चेक करने के बाद लिखें ताकि ये पता चले की कब घट और बढ़ रही है। अपने खान-पान का ध्यान रखें, ज्यादा कार्बोहाइड्रेट वाला खाना खाने से बचें। चीनी और अन्य मीठे चीजों का इस्तमाल कम करें या बिल्कुल ना करें। चोकर वाला आटा खायें। एक बार में ज्यादा खाने के बजाये 2-3 बार थोडा-थोडा खाएं। घी-तेल वाली चीजें जैसे :-समोसे,कचोड़ी,पुड़ी आदि कम से कम खाएं । चने वाली मिस्सी रोटी खाएं ।

        इसे दूर करने के कुछ घरेलु उपाय आप अपना सकते हैं :-

1.मेथी :-1 -2 चम्मच मेथी दाना 1 गिलास पानी में रात में भिगो दें, अगली सुबह इस पानी को पी लीजिये और मेथी को चबाकर खाएं। मेथी में प्रोटीन,फाइबर,विटामिन ‘सी ‘,आयरन आदि पाए जाते हैं जो ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में सहायक होती हैं। ये मधुमेह रोगी के लिए रामबाण औषधि है, आप इसका लड्डू भी खा सकते हैं ।                                                                                                                                2.करेला :-करेले का जूस सुबह-शाम खाली पेट पिएं और साथ ही करेले की सब्जी भी खाएं, आप  इसका चूरन बनाकर भी खा सकते हैं ।

3.तुलसी :-तुलसी में एंटी-ओक्सिडेंट पाई जाती है, साथ ही ये शुगर के लिए उपयोगी इन्सुलिन को भी बढाता है। सुबह खाली पेट तुलसी के 4-5 पत्ते चबाएं इसका रस भी पी सकते हैं ।

4.दालचीनी :-ये खून में शुगर लेवल को कम करती है, इसके नियमित सेवन से मोटापा भी कम होता है। दाल चीनी को महीन पीसकर चूर्ण बना लें और गुनगुने पानी के साथ कम मात्रा में लें, ज्यादा लेना खतरनाक हो सकता है।

5 .ग्रीन-टी:- में पोलीफ़िनोल पाया जाता है, जो एक एंटी-ओक्सिडेंट है। रोज सुबह-शाम ग्रीन-टी पीने से फायदा होगा, ये शरीर में ग्लूकोस की मात्रा को नियंत्रित करती है और इन्सुलिन दवा के हानिकारक प्रभाव को  कम करने में मदद करता है ।

6.सहजन:-सहजन की पत्तियों का रस भी फायदेमंद है,इसकी पत्तियों को पीसकर उसे निचोड़ लें और सुबह खाली पेट इसका सेवन करें ।

7.जामुन के  बीज :-जामुन के बीजों को अच्छी तरह सुखा लें सूखने के बाद इन्हें पीसकर चूर्ण बना लें और सुबह खली पेट रोजाना इसका सेवन करें इससे शुगर कंट्रोल रहेगा ।

8.शहतूत :-शहतूत की पत्तियों में एकरबोस नाम का एक कंपोनेंट होता है, जो शुगर लेवल कम करने में मदद करता है। रोजाना 5-6 पत्तियां खाएं इसकी पत्तियां कोलेस्ट्रोल स्तर भी मेंटेन करती हैं ।

9.अमरुद :-अमरुद में विटामिन ‘ए’और ‘सी’ के आलावा फाइबर भी होता है। अमरूद की पत्ती से बनी चाय में एल्फा-ग्लूकोसाइडिस एंजाइम गतिविधि को कम कर, मधुमेह रोगियों में प्रभावी रूप से रक्त शर्करा को कम करती है। इसके अलावा यह सुक्रोज और माल्‍टोज को सोखने से शरीर को रोकती है, जिससे शुगर का स्तर नियंत्रित रहता है। अमरूद की पत्ती से बनी चाय 12 सप्ताह पीने से इंसुलिन के उत्पादन में वृद्धि के बिना रक्त में शर्करा के स्तर को कम कर सकते हैं।

10.एलोवेरा :-एलोवेरा में एंटी-बेक्टीरिया और एंटी-फंगल के गुण होने के कारण ये खून में शुगर की मात्रा को कम कर के रखता है। आप एलोवेरा का जूस भी पी सकते हैं, अगर कडवा लगता है तो अन्य फलों का जूस इसमें मिलाकर पी सकते हैं ।

News Reporter

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.