लॉकडाउन: ये समय रिश्तों में आयी दूरियों को मिटाने का भी है !

लॉकडाउन की वजह से सभी लोग घर पर ही हैं। हालाँकि इस समय टाइम बिताना डिप्रेशन और अवसाद वाला हो सकता है क्योंकि लॉकडाउन खुलने के बाद माहौल कैसा होगा,जॉब रहेगी या नहीं इसकी चिंता सबको है। घर में मोबाइल,टीवी और अन्य गतिविधियों में टाइम पास करना पड़ रहा है। इन सबके बीच जो एक सकारात्मक चीज हो सकती है वो ये की, इस टाइम आप अपने रिश्तों में आयी दरार को मिटाकर उसे रिफ्रेश कर सकते हैं। रिश्तों में आयी गलत फहमी को दूर कर सकते हैं। चाहे वो कोई भी रिश्ता पति-पत्नी,पिता-पुत्र,सास-बहु का हो।आज  इन रिश्तो में मिठास, आपसी कदर और विश्वास खोते जा रहे हैं। इन रिश्तों में अपनेपन का भाव कम होता जा रहा है। हम रिश्तों  को जीने के बजाय एक फॉर्मेलिटी समझकर निभा रहे हैं। इस लॉक डाउन इन रिश्तों में टाइम इन्वेस्ट कर इसे और बेहतर बना सकते हैं। इस लॉक डाउन की वजह से जहाँ बहुत से रिश्ते बन जाते हैं ,वहीँ हो सकता है उनसे रिश्ते बिगड़ भी सकते हैं। इसलिए उनका खास ख्याल रखें !

इसे भी जानें :-ताकि पति आपको हमेशा प्यार करते रहें !

ग़लतफ़हमी ना पालें 

कई महिलाएं हमेशा इस बात की शिकायत करते हैं कि, उनके पति उन्हें टाइम नहीं दे पाते। पति भी ऑफिस में ज्यादा काम होने की वजह से टाइम ना दे पाने का बहाना बना लेते हैं, लेकिन अभी ऐसा कुछ नहीं होने वाला। इसलिए जितना ज्यादा हो सके आप अपने परिवार और बच्चों के साथ टाइम बताएं। अगर आपके और आपके पार्टनर के बीच कोई मनमुटाव चल रहा है तो, उनसे इस बारे में बात करें। ताकि कोई बात आपके पार्टनर के मन में ना रहे।अगर कोई बात मन में रह जाए तो वो ज्यादा खतरनाक होता है। इससे अच्छा है की वो बात जुबां पर आए क्योंकि जहां बातचीत होगी वहां गलतफहमी हो ही नहीं सकती। अगर आप बातचीत बंद कर देंगे तो, यकीन मानिए आपके बीच हुए गलतफहमी को कोई भी दूर नहीं कर सकता। इसलिए कभी भी और कैसी भी परिस्थिति में अपने पार्टनर के साथ या किसी भी रिश्ते में बातचीत बंद करना किसी समस्या का हल नहीं है। इसलिए अपने ईगो को  बाजू में रखकर बातचीत हमेशा चालू रखें। रिश्ते में हमेशा ताजगी बनी रहेगी।

इसे भी जानें :-जब रिश्ते में आये असुरक्षा की भावना ?इससे कैसे निबटें !

रिश्तों को स्पेस दें

यह समय जहां बिगड़े रिश्तो को बनाने का है, वहां रिश्तों को स्पेस देकर भी रिश्तो को सुधार सकते हैं। इस समय आपका ज्यादा समय घर पर ही बीत रहा है, ऐसे में हो सकता है की जीवनसाथी आपसे ऊब जाए। और रिश्ता उदासीन लगने लगे। ऐसे में आप रिश्ते में स्पेस देकर बिगड़े रिश्तों में बहार ला सकते हैं।आप तय कर लें की कितना टाइम किसको देना है। इस समय घर में पत्नी के अलावा बच्चे,माता-पिता,भाई-बहन भी हैं। आप तय कर लें की कितना टाइम किस के साथ बिताना है। इन सब के बीच आपको सामंजस्य बैठाते हुए इन रिश्तों में एक नई ऊर्जा भरना है। अगर बच्चों के साथ टाइम बिताना है तो उनके साथ उनकी पसंद की किताब या कॉमिक्स पढ़ सकते हैं। उनके साथ कोई गेम खेलें।  कोई ऐसा इंडोर गेम भी खेल सकते है जिसमें आपके सारे परिवार के सदस्य खेल सकें जैसे लूडो, कैरम आदि। आप अपनी शादी की वीडियो या कोई फैमिली एल्बम देखकर अपने परिवार के साथ टाइम स्पेंड करें और साथ ही दरारों को भी भरें।

इसे भी जानें :-जाने आपकी पत्नी आपको धोखा दे रही है या नहीं

किचन में पत्नी का साथ दें

महिलाओं को खुश करने का सबसे अच्छा तरीका है उनका काम कम करना। इसका सबसे अच्छा तरीका है पुरुष किचन में पत्नियों का हाथ बटाएं। इस लॉकडाउन कुछ दिन महिलाओं को किचन से छुट्टी देकर पुरुष शेफ की भूमिका निभा सकते हैं। अपनी पसंद का या जो उन्हें पसंद है बनाकर खिलाएं। अगर नहीं आता है तो रेसिपी बुक या इनसे सम्बंधित वीडियो देखकर भी सिख सकते हैं और उन्हें सरप्राइज दें। अगर आपको बनाने का शौक नहीं है, तब भी महिलाओं को किचन में हेल्प कर सकते हैं। अगर आपको कुछ बना नहीं आता तो उनके साथ कोई सब्जी वगैरह काटने में उनका साथ दें। हो सकता है ये आपको अच्छा ना लगे लेकिन इससे पत्नी के दिल में अपने लिए और जगह बना सकते हैं। इससे आप घर में बोर भी नहीं होंगे।

इसे भी जानें :-सास-बहू के रिश्ते को इस तरह बनाएं मजबूत

एक दूसरे की भावनाओं की क़द्र करे

अगर आपका पार्टनर आपके लिए कुछ कर रहा है तो उसे उसकी काम की अहमियत बताएं। अहमियत देने से रिश्ता और ज्यादा मजबूत होते हैं। इस टाइम भले ही आपके पास काम ना हो।आप फ्री हों घर पर हों। लेकिन महिलाओं का तो काम उतना ही है बल्कि और बढ़ गया है। बच्चे घर पर हैं तो गंदगी भी ज्यादा होगी और उन्हें बार-बार साफ़ करना पड़ेगा। इससे उनमे चिड़चिड़ापन भी बढ़ सकता है। घर के कामों में उनका हाथ बटाएं। एक दूसरे का सम्मान जरूर करें। कोई भी रिश्ता बिना सम्मान के नहीं चल सकता। अगर आप सामने वाले से भी अपेक्षा रखते हैं तो उन्हें सम्मान भी दें।

 

 

News Reporter

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.