शादी के बाद जिंदगी में होने वाले महत्वपूर्ण बदलाव !

शादी इसका नाम आते ही क्या लड़का और क्या लड़की दोनों के ही चेहरों पर मुस्कान आ जाती है। कहते हैं शादी एक ऐसा लड्डू है जिसे खाने वाला भी  पछताए और ना खाने वाला भी पछताए, तो इससे अच्छा यही है कि खाकर ही उसका स्वाद लेकर ही पछताया  जाए। शादी में केवल दो लोग ही आपस में नहीं मिलते हैं, इसमें 2 परिवार, 2 संस्कृति, 2 अलग-अलग धर्म दो अलग-अलग जातियों के लोग एक हो जाते हैं।  शादी एक ऐसा बंधन है, जहां पर 2  परिवार एकजुट होते हैं। जहां तो संस्कृति दो अलग-अलग परंपराएं एक साथ जुड़ जाती हैं। शादी के बाद लड़की अपने पति से अपने माता-पिता के लिए सम्मान की और उनकी देखभाल की उम्मीद करती है। यही उम्मीद पति भी अपनी पत्नी से अपने माता-पिता के लिए करता है। एक स्वस्थ रिश्ते को बनाए रखने के लिए पति और पत्नी दोनों का ही दोनों को ही अपने रिश्ते का सही संतुलन बनाए रखना बेहद जरूरी है। शादी दो अलग-अलग परिवारों के, दो व्यक्तियों को आपस में संतुलन बनाए रखना सिखाता है। विवाह बंधन में दोनों परिवार हमेशा एक दूसरे के सुख दुःख, जिंदगी के अच्छे-बुरे समय में एक दूसरे के साथ, एक दूसरे का हाथ पकड़कर और एक दूसरे के ख्याल रखते हुए बिताते हैं।

जो लोग सोचते हैं शादी निभाना आसान है, लेकिन अगर सच में देखा जाए तो शादी निभाना इतना आसान भी नहीं है।आज हम बात करेंगे शादी के बाद इंसान की जिंदगी में होने वाले बदलाव के बारे में। शादी से पहले और शादी के बाद की जिंदगी में इंसान की लाइफ में बहुत से बदलाव आते हैं और इनमें कुछ ऐसे बदलाव होते हैं। ऐसी कई चीजें जिसके बारे हम नहीं चाहते कि यह बदलाव हो, लेकिन शादी एक ऐसा रिश्ता है जो हमें बहुत कुछ सिखाता है।

अकेलापन महसूस न होना

 

शादी से पहले जो बातें हैं आप की अपनी खास पर्सनल बातें किसी से भी नहीं कह पाते थे, उसको कहने के लिए वह शेयर करने के लिए आपको एक साथी मिल जाता है। जिससे अपना सुख-दुःख सभी कुछ बांट सकते हैं। मान लीजिये आपको पैसे से रिलेटेड कोई डिसीजन लेना है और आपको कोई बात समझ नहीं आ रहा है तोअपने साथी के साथ यह बातें शेयर कर सकते हैं,और वो आपको सही सलाह दे सकता है।  वो कहते हैं ना एक से भले दो, यहां भी वही बात  लागू होता है।

जिम्मेदारी का एहसास

 

शादी के बाद लड़कों में जो सबसे बड़ा बदलाव होता है, वह है जिम्मेदारी का एहसास। पहले जहां किसी भी टाइम उठना, किसी भी टाइम सोना। लाइफ में कोई रोका टोकि नहीं था जब जी में चाहा खाना खाया नहीं तो दोस्तों के साथ पार्टी की। वहीं शादी के बाद लड़का अपनी पत्नी और अपने आने वाले बच्चे का पूरा ख्याल रखने का कोशिश करता है।यही बदलाव लड़की में भी आता है जहां पहले समय का कोई क़द्र नहीं थी। वहीँ ससुराल में सारे काम टाइम से करना पड़ता है। अब ससुराल जाकर वहां पति सास और देवर -देवरानी सभी का ख्याल रखना पड़ता है। कहीं कोई ऐसी बात ना हो जाए कि जहां हमें शर्मिंदा होना पड़े, इस बात का ख्याल लड़कियों को बहुत ज्यादा रखना पड़ता है। शादी का मतलब ही होता है जिम्मेदारी का अहसास। शादी के बाद लड़के और लड़की दोनोंही मेच्योर हो जाते हैं।

परफेक्ट लाइफ पार्टनर

 

शादी से पहले लड़के लड़कियां अपने होने में वाले लाइफ पार्टनर से बहुत ज्यादा अपेक्षा रखते हैं, और जब शादी के बाद उनके मन मुताबिक  पार्टनर नहीं मिलता तो यह घर में झगड़ा, कलह  का कारण बनता है। हो सकता है शादी से पहले एक दो मुलाक़ात में है या जिससे हम प्यार करते हैं उसके बारे में उतना चीज मालूम ना हो। चूँकि शादी के बाद हमेशा साथ रहना, उठना-बैठना, खाना-पीना सब साथ में होता है, तो हमें उसके बारे में उसके अच्छी-बुरी सब आदतों का पता चल जाता है। और फिर हम अपने आप से या अपने मां बाप से शिकायत करते हैं कि हमें जैसा चाहिए था वैसा नहीं मिला। दुनिया में शायद ही कोई होगा जिन्हें परफेक्ट लाइफ पार्टनर मिला होगा। यह ज्यादातर लोगों का प्रॉब्लम है। शादी परफेक्ट बनाने के लिए हमें अपने लाइफ पार्टनर को उसकी अच्छाई,बुराई के साथ ही अपनाना पड़ता है। पहले तो थोड़ा मुश्किल जरूर लगेगा। लेकिन आपको इसकी आदत हो जाएगी। अपने लाइफ पार्टनर की अच्छाई देखिए उसकी बुराई नहीं। उसे बताएं की आपको क्या अच्छा लगता है और क्या नहीं। वो अपने आदत में जरूर बदलाव करेगा। आप चाहेंगे कि जो पिछले 25-30 सालों से नहीं बदला एकदम बदल जाए तो यह नामुमकिन है। शादी का मतलब होता है अपने रिश्तो को टाइम देना।आप जितना स्पेस देंगे रिश्ता उतना ही निखरकर बाहर आएगा।आपकी जिंदगी में जहां पहले शिकायतों का पिटारा रहा करता था, वही अब आपको दुनिया का सबसे बेस्ट पार्टनर लगने लगेगा। शादी में संयम रखना सब रखना बहुत जरूरी है। अपने रिश्ते को एक मौका दीजिए। आपके जिंदगी में खुशियों के फूल महक उठेंगे और फिर आपको अपनी जिंदगी से कोई भी शिकायत नहीं रहेगी।

असुरक्षा की भावना से छुटकारा

 

शादी के बाद इंसान की जिंदगी में जो सबसे बड़ा बदलाव आता है वह है अकेलेपन से छुटकारा। इससे पहले जहां आपको अपनी बातें शेयर करने के लिए कोई नहीं मिला था वहीं शादी बाद आपको एक ऐसा साथी मिल जाता है, जिससे आप अपने हर सुख-दुःख बांट सकते हैं। इससे आप को असुरक्षा की भावना से भी छुटकारा मिल जाता है।अगर आप बीमार पड़ जाते थे तो इससे पहले आपको कोई देखने वाला नहीं होता था। वहीं  शादी के बाद अब आपका पार्टनर आपको देखने के लिए आपको आपकी हर एक बात मानने के लिए हमेशा आपके साथ खड़ा है। जब खुशी के पल हो या गम के पल हो आपका साथी हमेशा आपके कंधे से कंधा मिलाकर आपके साथ खड़ा मिलेगा। और आप को सपोर्ट करेगा। अगर आपको किसी काम से घर से दूर जाना पड़े तो आपको फिक्र करने की जरुरत नहीं है क्योंकि कोई है जो आपके बिना भी आपके परिवार का ख्याल अच्छे से निभा सकता है। यही चीज इंसान को जिंदगी में आगे बढ़ने की प्रेरणा देता है, जिससे इंसान बेफिक्र होकर से अपने काम पर फोकस कर सकता है। अपने आप को और अधिक सहज और सुरक्षित महसूस करेंगे।

सेक्स लाइफ में बदलाव

 

शादी के बाद इंसान की जिंदगी में सबसे बड़ा बदलाव आता है उसमें सेक्स का भी एक अलग महत्व है। शादी से पहले जहां आप चोरी छिपे मिलते थे या कभी सेक्स के टाइम किसी तीसरे के आने का डर होता था। वहीं शादी के बाद आप अपने पार्टनर के साथ अंतरंग पलों को ज्यादा एंजॉय कर पाएंगे।इसका सबसे बड़ा एक फायदा यह है कि आप जब सुबह सो कर उठेंगे तो अपने आप को पहले से कहीं ज्यादा तरोताजा महसूस करेंगे और आपका शरीर और मन हल्का लगने लगेगा। जिससे आपका काम में और बेहतर मन लगेगा। इस तरह आप जिंदगी में सफलता के पायदान चढ़ते ही चले जाएंगे क्योंकि वैवाहिक जीवन में सेक्स का बहुत बड़ा रोल होता है। अगर आपका सेक्स जीवन संतुष्ट है तो फिर आपका है तो जिंदगी एकदम पटरी में चलता है। यदि आपके लाइफ में  सेक्स असंतुष्टि है तो फिर आपकी जिंदगी में क्लेश आदि हमेशा चलता रहेगा और आप अवसाद से भर जाएंगे। इसलिए अपनी जिंदगी में खुशनुमा सेक्स लाईये।

News Reporter

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.