इन बातों का ध्यान रखें ताकि आखें रहे हेल्दी !

शरीर की अन्य अंगों की तरह हमें अपने आँखों का भी खास ख्याल रखना चाहिए क्योंकि आँखें सबसे नाजुक अंग हैं। इसके बिना जिन्दगी की कल्पना करना भी कितना मुश्किल है जरा सोच के देखिये। इसके लिए जरुरी है की हम अपनी आँखों को समय-समय पर डॉक्टर से चेकअप कराते रहें। अधिक पास बैठकर टी.वी. देखने,लगातार तेज रोशनी में पढने,अनियमित और गलत खान-पान और विटामिन’ए’ आदि चीजें भी आँखों की कमजोरी के लिए जिम्मेदार हैं

 

आँखों की देखभाल के लिए क्या करें

  • यदि आप का ज्यादातर काम कंप्यूटर का है ऐसे में आपको लगातार ज्यादा देर तक कंप्यूटर बैठना पड़ता है लगातार ना बैठकर आप  आधे-एक घंटे के बाद थोडा इधर-उधर टहलें ताकि आँखों को आराम मिल सके और आप भी रिलैक्स महसूस करेंगे।
  • आजकल बच्चे बाहर शारीरिक गेम खेलने के बजाय ज्यादातर कंप्यूटर में  या मोबाइल पर विडियो गेम खेलना पसंद करते हैं, जिससे इनकी आँखों पर बुरा प्रभाव पड़ता है। यही कारण है की आजकल छोटे बच्चे भी आपको चश्मा लगाए नजर आ जायेंगे।
  • आँखों की मालिश भी जरुरी है। आँखों के चारों और इस प्रकार मालिश करें की आँखों पर ज्यादा दबाव ना पड़े।
  • आँखों को ठन्डे पानी से धोएं या आँखों पर ठन्डे पानी की पट्टी रखें, ऐसा दिन में कम-से-कम 3-4 बार जरुर करें।
  • पढ़ते समय या टी.वी. देखते समय लगातार ना देखें बीच-बीच में आँखों को आराम देते रहें या पलक झपकाते रहें। आँखों पर पानी की छीटें मारते रहें।
  • विटामिन ‘ए’ की कमी से भी आँखों की समस्या हो सकती है इसके लिए गाजर, मुली,टमाटर,पालक, मेथी, पत्तागोभी,लौकी और फलों में अमरुद केला,सेब,पपीता, अनार का सेवन करें और हरी सब्जियों का सूप पियें।
  • रोजाना सरसों के तेल से पैरों के तलवों की मालिश करें, हो सके तो सुबह-सुबह नंगे पैर हरी घास पर 10 मिनट चलें, क्योंकि पैरों का सीधे आँखों से कनेक्शन होता है।
  • यदि चलते हुए आँखों में धुल कण या कीड़े पड़ जाए तो ऐसे में आँखों को मलें नहीं, कुछ कदम पीछे की ओर चलते हुए पलकों को झपकाएं, पलकों को पकड़कर धीरे से बाहर की ओर खीचें। ऐसा 3-4 बार करें और आँखों पर ठन्डे पानी की छीटें मारे।
  • नींद कम लेने से भी आँखों पर बुरा असर पड़ता है, इसलिए भरपूर और पर्याप्त नींद लें. कम-से कम 7-8 घंटे जरुर सोयें।
  • यदि आँखों में बहुत ज्यादा दर्द और तकलीफ है तो तुरंत आई स्पेशलिस्ट से मिलें। अपने मन से कोई भी ड्राॅप आँखों पर ना डालें इससे आँखों को नुक्सान पहुँच सकता है।
  • लेटकर या झुक कर पढने से भी आँखों को नुक्सान पहुँचता है। पढ़ते समय रोशनी ऐसा रखें की फोकस सीधा किताब पर हो। ना ज्यादा कम रोशनी में पढ़ें और ना ही ज्यादा तेज रोशनी में।
  •  नंगी आँखों से धुप में देखने से बचें, अगर बाहर जाना पड़ जाए तो सनग्लासेस का इस्तमाल करें।
  • रोजाना आँखों का एक्सरसाइज जरुर करें ।
  • ज्यादा शराब का सेवन भी आँखों को कमजोर बनाता है इसलिए इससे बचें।
  • चाहे आँखों में समस्या हो या ना हो साल में एक बार जरुर आई स्पेशलिस्ट से आँखों का चेकअप करवाएं और उसके कहे अनुसार आँखों की देख-रेख करें ।

 

News Reporter

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.