नशे की लत को कैसे कहें बाय-बाय ?

नशा भले ही शान के लिए किया जाता है। लेकिन इससे सिर्फ नुकसान ही होता है,चाहे पैसा,इज्जत,शारीरिक बिमारी हो। हर तरह से ये घाटे का सौदा है। इस नशे के कारण कई लोग असमय ही मौत के गले लग जाते हैं। नशा चाहे शराब का हो या गांजा या ड्रग्स या कोकीन ये आजकल युवा पीढ़ी को बहुत तेजी से अपनी चपेट में ले रहा है। मनोरंजन की दुनिया बॉलीवुड आज नशे के कारण पूरी दुनिया में चर्चा का विषय बना हुआ है। एक रिपोट के अनुसार विकासशील देशों की अपेक्षा विकसित देशों में ड्रग्स या कोकीन जैसे महंगे नशा का इस्तमाल ज्यादा किया जाता है। नशा हमेशा आपको लत की ओर ले जाती है। शराब पिने वाले को लगता है की शराब का असर सिर्फ उनके लिवर पर हो रहा है। ऐसे ही सिगरेट पिने वाले को भी लगता है की सिगरेट का असर उनके फेफड़ों पर हो रहा है, जबकि किसी भी नशे का असर शारीरिक से ज्यादा मानसिक तौर पर भी नुकसान पहुंचाती है।

इसे भी जानें:-स्ट्रैस और थकान दूर करने के लिए बेस्ट है ऑयल थेरेपी !

लत क्या है ?

लत एक ऐसी बिमारी होती है जो किसी चीज के लगातार उपयोग के कारण होती है। हालाँकि इसका हेल्द पर बहुत बुरा असर होता है, ये जानने के बावजूद व्यक्ति इसका सेवन करता है। नशे की लत से जूझ रहा व्यक्ति धीरे-धीरे नशे की मात्रा भी बढ़ाने लगता है। नशे की लत एक ऐसी चीज है,जिसके लिए नशेड़ी किसी भी हद तक जाने को तैयार हो जाता है फिर चाहे इसके लिए उसे किसी की हत्या जैसी जघन्य अपराध क्यों ना करनी पड़े। नशे के मामले में महिलाएं भी किसी से पीछे नहीं हैं, जिस कारण नशा उनके व्यक्तिगत और सामाजिक जीवन में तनाव, प्रेम संबंध, दांपत्य जीवन और तलाक आदि का कारण बनते हैं।

ना चाहते हुए भी नशा करना

इसे भी जानें :-तनाव कम करने में मददगार है व्हिस्की जाने इसके फायेदे !

कई मामलों में नशेड़ी व्यक्ति को पता नहीं होता कि वह भी धीरे-धीरे  किस प्रकार नशे की दलदल में फंस चुका है। इससे उसके सामाजिक, आर्थिक और  पारिवारिक सम्मान भी नष्ट होते हैं। इसके बावजूद वह और नशा करता है। अगर आप अपने नशे पर पहले से ज्यादा पैसा खर्च करने लगते हैं, तो समझ लीजिए की यह लत की शुरुआत का संकेत है। नशे की लत से जूझ रहे व्यक्ति का ध्यान हमेशा सिर्फ और सिर्फ नशा पर ही होता है। उसके आसपास क्या हो रहा है ? क्यों हो रहा है? चाहे उसके अपने दूर चले जाए। उसे कोई फर्क नहीं पड़ता। उसे सिर्फ और सिर्फ अपने नशे से मतलब होता है। परिवार में चाहे सुख हो, चाहे दुख हो नशेड़ी को नशे के अलावा और किसी चीज से प्यार नहीं करता। यह सारे लक्षण बताते हैं कि व्यक्ति धीरे-धीरे नशे की लत का शिकार हो रहा है।

 

नशे की लत को कैसे छुड़ाएं

इसे भी जानें :-ओरल कैंसर के कारण और लक्षण

 

  • नशे की लत से आजादी पाने के लिए व्यक्ति को बहुत ज्यादा दिक्कतों का सामना करना पड़ता है, क्योंकि अगर कोई चीज एक बार लत बन जाए तो इतना भी आसान नहीं है उसे छोड़ना। इसके लिए को मानसिक ही नहीं शारीरिक तौर पर भी तैयार रहना होगा। इसके लिए आप हेल्दी डाइट लें, रात में अच्छी नींद और डेली रूटीन मैं एक्सरसाइज को जरूर शामिल करें। इससे आपका ध्यान नशे की तरफ नहीं जाएगा और  आपको इस लत से छुटकारा पाने में मददगार साबित होंगे।
  • अगर आप नशे की लत छोड़ना चाहते हैं तो इस लत को एकदम छोड़ें। अगर आप चाहेंगे कि आप जहां दिन में चार गिलास शराब पीते थे कल से दो गिलास पिएंगे फिर कुछ दिन बाद एक गिलास पर आएंगे और फिर धीरे-धीरे शराब छोड़ देंगे।अक्सर ऐसा पॉसिबल नहीं होता। अपने आस-पास कई ऐसे उदहारण देखने को मिल जाएंगे जो धीरे-धीरे नशा को पूरी तरह छोड़ने का दवा तो करते थे लेकिन अभी भी वे डेली नशा करते हैं। धीरे-धीरे आप नशे को पूरी तरह नहीं छोड़ सकते, इसलिए अगर एक बार मन बना लें कि नशे से दूर रहना है तो रहना है।अगर आपने एक बार नशा छोड़ने का फैसला कर लिया है तो अपने आत्मविश्वास को मजबूत करें और खुद पर भरोसा करें कि आप नशा जिंदगी में फिर कभी नहीं करेंगे। इस तरह आप नशे को हमेशा के लिए बाय-बाय कह सकते हैं।
  • अक्सर देखा जाता है कि कई बार व्यक्ति दोस्ती के कारण नशा करना शुरू कर देता है। ऐसे में अगर आप नशे की लत को छोड़ने का मन बना चुके हैं तो ऐसे दोस्तों से बिल्कुल दूर रहे हैं, जो आपको आपने दोस्ती की दुहाई देकर नशा करने पर मजबूर करते हैं। अगर कभी दोस्तों के साथ किसी पार्टी वगैरह में जाना पड़ जाए तो आप उनके साथ बैठ कर शराब के बजाय कोल्ड ड्रिंक का इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन इस समय आपको अपने मन को मजबूत रखें और यह सोचे कि आप सिर्फ अपने दोस्तों का साथ देने आये हैं ना कि उनके साथ शराब पीने। अगर आप फिर भी अपने ऊपर काबू ना रख पाए तो ऐसी जगह से दूर हो जाएं। इस तरह की मानसिक मजबूती रखेंगे तभी आप नशे से छुटकारा पा सकते हैं।

  • नशा छोड़ने के लिए व्यक्ति को अपने दिल की मजबूती के साथ-साथ परिवार का सपोर्ट भी बहुत जरूरी होता है। परिवार आपका साथ दे तो आप बहुत ही जल्द इस नशे की लत से आजाद हो सकते हैं। नशे से छुटकारा पाने के लिए रिहैब सेंटर भी जा सकते हैं। जहां सही देखभाल से आप इस नशे की लत से पूरी तरह आजाद हो जाएंगे। आजकल लगभग हर शहर में इस तरह के  आपको मिल जाएंगे।कई बार टेंशन या अन्य किसी परेशानी के कारण भी व्यक्ति नशे की ओर जाकर गम को भूलाना चाहता है। जब भी कुछ ऐसी समस्या आये,नशा ना कर अपने परिवार से बात करें और उस समस्या का हल ढूंढने की कोशिश करें। इससे इससे उस समस्या का समाधान भी हो जाएगा और आप नशे से भी दूर रहेंगे।

इसे भी जाने :-गले का कैंसर होने के कारण और लक्षण !

News Reporter

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.